e- RUPI क्या है?|What is e-RUPI? |e-Voucher|

E-RUPI यानी एक प्रकार का digital voucher, जिसे पीएम मोदी ने इलेक्ट्रॉनिक वाउचर पर आधारित एक डिजिटल पेमेंट सिस्टम है. यह देश की अपनी डिजिटल करेंसी के रूप में भारत का पहला कदम है. ई-रूपी एक कैशलेस और डिजिटल पेमेंट्स सिस्टम मीडियम है, जो SMS string या एक consumer code के रूप में लाभार्थी को प्राप्त होगा. इस platform को नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI), डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल सर्विसेज, मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर और नेशनल हेल्थ अथॉरिटी ने लांच किया है. यह एक तरह से गिफ्ट वाउचर के समान होगा, जिसे बिना किसी क्रेडिट या डेबिट कार्ड या मोबाइल ऐप या इंटरनेट बैंकिंग के खास एस्सेप्टिंग सेंटर्स पर रिडीम कराया जा सकता है.

NPCI official website-https://www.npci.org.in/

e-RUPI कैसे काम करता है?

जब किसी सरकारी या निजी संस्था द्वारा  किसी लाभार्थी को योजना से सम्बंधित लाभ पहुचाना होगा, तो वह संस्था एक voucher  तैयार करेगी जो लाभार्थी को उसके मोबाईल पर SMS या QR-code के माध्यम से भेज दिया जायेगा. जिसे लाभार्थी उस योजना से सम्बंधित लाभ उठा सकेगा.

उदहरण-के लिये यदि सरकार किसी लाभार्थी को LPG पर सबसिडी देना चाहती है, तो उस लाभार्थी के मोबाईल पर एक QR-code या e-RUPI(voucher) भेजा जायेगा. जिसे लाभार्थी उस voucher का उपयोग सिर्फ LPG पर सबसिडी लेने के लिये ही कर सकता है दुसरे काम के लिये नही.

e-RUPI वाउचर की सबसे अच्छी बात है कि इसके लिए लाभार्थिओं को किसी बैंक अकाउंट की जरूरत नहीं होगी. लाभार्थी डिजिटल कार्ड, डिजिटल पेमेंट ऐप और इंटरनेट बैंकिंग सर्विस के बिना ही इसे एक्सेस कर सकेंगे.

यह अभी देशभर में कुल 11 बैंकों की ओर से इसे जारी किया गया है, जो भविष्य मे और भी बैंको और संस्थाओ तक विस्तार कर दिया जायेगा

क्या है e-RUPI के फायदे?

  • यह प्लेटफॉर्म यूजर्स के लिए कैशलेस और कॉन्टैक्टलेस सुविधाएं लाता है।  
  • सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इस UPI प्लेटफॉर्म को नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा विकसित किया गया है।
  • एप्लिकेशन के तहत दिया गया वाउचर मोबाइल के उपयोगकर्ता को दिया जाएगा।
  • इस प्रणाली के माध्यम से उपयोगकर्ता क्यूआर कोड या एसएमएस की मदद से भुगतान कर सकते हैं जो ई-वाउचर पर आधारित है।
  • उपयोगकर्ता बिना किसी भी इंटरनेट बैंकिंग या डेबिट या क्रेडिट कार्ड, या किसी भुगतान एप्लिकेशन का उपयोग किए बिना वाउचर को निकाल सकते हैं
  • इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल दवाओं और पोषक तत्वों की खुराक खरीदने के भुगतान के लिए भी किया जा सकता है।
  • सरकार के मुताबिक निजी सेक्टर भी अपने एंप्लाई वेलफेयर व कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी प्रोग्राम्स के तहत इन डिजिटल वाउचर्स का उपयोग कर सकती है.

इसे भी पढें-

प्रधान मंत्री ई-श्रम कार्ड योजना क्या है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *